Love StatusGood Night Status

200 + Best Raat Shayari In Hindi | रात की शायरी इन हिंदी

हैल्लो दोस्तों आज के आर्टिकल में हम पढ़ने वाले है, Raat Shayari In Hindi जैसे की आपको पता है दोस्तों रात की तन्हाई में खोये हुए लोगो को उस खास लम्हो की याद आ जाती है, जोकि उन्होंने किसी अपने के साथ वो लम्हा बिताये थे, तो चलिए दोस्तों आज हम इसी के बारे में पढ़ेंगे और इंजॉय करेंगे, Raat Shayari In Hindi निचे पोस्ट में लिखा हुआ है जिसे आप भी पढ़े और अपने दोस्तों को भी भेजे ,धन्यवाद

Hello friends, in today’s article we are going to read, Raat Shayari In Hindi, as you know friends, people lost in the loneliness of night remember those special moments which they had spent with someone close to them. Well friends, today we will read about this and enjoy, Raat Shayari In Hindi is written in the post below, which you can also read and send to your friends too, thank you.

Raat Shayari In Hindi

Raat Shayari In Hindi,
Raat Shayari,
Raat shayari 2 lines in hindi,
Raat shayari sad,
Raat shayari ghazal,
Raat shayari in hindi 2 line
Raat shayari in hindi love,
Raat sad shayari in hindi,
Chandni raat shayari in hindi,
Andheri raat shayari in hindi,
Tanha raat shayari in hindi,
Chand raat sad shayari,

Raat Shayari In Hindi

ऊपर उठने की चाहत ने रातों की नींद को उड़ा दिया !!
दिन का सुकून छूट गया पहले ही अब चैन भी छुड़ा दिया !!

आंखों से गायब नींद है और मन से चैन !!
तेरा चेहरा नजर आने लगा है अब तो दिन रैन !!

कड़कड़ाती सर्द रातों में तेरी यादों का सहारा होता है !!
मेरे जज्बातों के समुंदर का तू बस किनारा होता है !!

मौत का नाम तो यू ही बदनाम करते हैं लोग !!
बस सर्द रातों में बेवफा की यादों से डरते हैं लोग !!

जब भी दिन में तेरी याद सताती है !!
फिर उस रात को नींद नहीं आती है !!

नौकरी के चक्कर में मैंने रातों की नींद और सुकून खोया है !!
और एक नसीब है जो सुकून की तलाश में कब से सोया है !!

मिला हूं जब से तेरी यादों का कोहरा दिखाई देता है !!
अब आंखों में नींद नहीं बस तेरा चेहरा दिखाई देता है !!

लो आज फिर चांदनी रात आ गई !!
एक बार फिर तेरी यादों की बारात आ गई !!

कतरा कतरा जोड़ कर मैं अपने जज़्बात लाया हूं !!
तुम्हारी यादों की महफिल में फिर चांदनी रात लाया हूं !!

ओस के कण तेरे केसुओं में लगते हैं बहुत प्यारे !!
जैसे चांदनी रात में किसी ने बिखेरे हों सितारे !!

चांद आया तो चांदनी रात आई !!
एक बार फिर मुझे तुम्हारी याद आई !!

तेरे ख्यालों में डूबकर हर बात भुला देता हूं !!
तेरी तस्वीर को देखकर तन्हा रात बिता देता हूं !!

प्यार का गला घोट कर जब से तेरी डोली सजी है !!
तब से मेरे जीवन में सिर्फ रात की तन्हाई ही बची है !!

रातों की तन्हाई भी क्या गजब ढा गई !!
चुपके से आई दिल में और मुझे रुला गई !!

नींद से क्या शिकवा जो आती नही रात भर !!
कसुर तो उन सपनों का है जो सोने नही देते !!

इसे भी पढ़े :- King Shayari In Hindi | किंग शायरी हिंदी

Raat Shayari In Hindi

फ़िक्र सोती थी चैन से पहले !!
अब मुझे रात भर जगाती है !!

नींद से क्या शिकवा जो आती नही रात भर !!
कसुर तो उन सपनों का है जो सोने नही देते !!

तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द !!
तू किसी रोज मेरे घर में उतर शाम के बाद !!

शायरी में कहाँ सिमटता है दर्द-ए-दिल दोस्तो !!
बहला रहे हैं खुद को जरा कागजों के साथ !!

मेरी फितरत में नहीं अपना दर्द बयां करना !!
अगर तेरे वजूद का हिस्सा हूँ तो महसूस कर मुझे !!

वो चाँद कह के गया था कि आज निकलेगा !!
तो इंतज़ार में बैठा हुआ हूँ आज शाम से मै !!

ऐ चाँद चला जा क्यों आया है तू मेरी चौखट पर !!
छोड़ गया वो शख्स जिसके धोखे में तुझे देखते थे !!

खुबसुरत गजल जैसा हैं तेरा चाँद सा चेहरा !!
निगाहे शेर पढ़ती हैं तो लव इरसाद करते हैं !!

मन्तजिऱ हूँ कि सितारें की जरा आँखं लगे !!
चाँद को छत पे बुला लूगा इशारा करके !!

रात भर आसमां में हम चाँद ढूढ़ते रहे !!
चाँद चुपके से मेरे आँगन उतर आया !!

तस्वीर बना कर तेरी आसमा पे टांग आया हूँ !!
और लोग पुछते हैं आज चाँद इतना बेदाग़ कैसे हैं !!

रात भर तेरी तारिफ़ करता रहा चाँद से !!
चाँद इतना जला कि सूरज हो गया !!

सारी रात गुजारी हमने इसी इंतजार में !!
कि अब तो चाँद निकलेगा आधी रात में !!

बेचैन इस कदर था कि सोया ना रात भर !!
पलकों से लिख रहा था तेरा नाम चाँद पर !!

चलो चाँद का किरदार अपना ले हम दोस्तों !!
दाग अपने पास रखे और रौशनी बाँट दे !!

Raat Shayari

कमजोर दिल को कैसे समझाएं तेरे बिना !!
तन्हा रात का वक्त कैसे बिताएं तेरे बिना !!

अब ये दिल उदास रहता है ठंड भरी रातों में !!
अब वो गर्माहट नहीं होती उनकी प्यार भरी बातों में !!

तन्हा सर्द रातों में जब-जब तेरी याद आई !!
हमने तेरी यादों की तब-तब चिता जलाई !!

प्यार में हर किसी की जिंदगी कहां संवरती है !!
बिछड़ने के बाद मेरी हर रात तन्हाई में गुजरती है !!

अब तो हर दिन हम तेरी जुदाई में बिताते हैं !!
होती है जब रात तो उसे भी तन्हाई में बिताते हैं !!

किसी के जाने के बाद दिल में सुकून कहां रहा जाता है !!
याद आती है जिस रात, उस रात ये दिल तन्हा रह जाता है !!

तन्हा रातों की हर सर्द हवा मुझसे यही पूछ कर जाती है !!
करता है जिसे तू हर रोज याद क्या उसे भी तेरी याद आती है !!

एक बार फिर मुझे तेरी याद आ गई है !!
लो फिर से तन्हाई की रात आ गई है !!

वो सुबह सुबह आए मेरा हाल पूछने !!
कल रात वाला ख़्वाब तो सच्चा निकल गया !!

मैं फिर एक हंसती हुई सुबह उसे लाकर दूँ !!
वो रात मेरी याद में गुजारे तो सही !!

आज न जाने राज़ ये क्या है !!
हिज्र की रात और इतनी रौशन !!

सुबह हुइ तो आँखें ऐसे नींद से बोझिल थी !!
जैसे कोई जाग रहा था मुझ में सारी रात !!

अभी रात कुछ है बाक़ी न उठा नक़ाब साक़ी !!
तिरा रिंद गिरते गिरते कहीं फिर सँभल न जाए !!

इक उम्र कट गई है तिरे इंतिज़ार में !!
ऐसे भी हैं कि कट न सकी जिन से एक रात !!

हर एक रात को महताब देखने के लिए !!
मैं जागता हूँ तिरा ख़्वाब देखने के लिए !!

इसे भी पढ़े :- Chand Shayari In Hindi | चाँद शायरी २ लाइन

Raat shayari 2 lines in hindi

कुछ भी बचा न कहने को हर बात हो गई !!
आओ कहीं शराब पिएँ रात हो गई !!

रात को जीत तो पाता नहीं लेकिन ये चराग़ !!
कम से कम रात का नुक़सान बहुत करता है !!

रात आ जाए तो फिर तुझ को पुकारूँ या-रब !!
मेरी आवाज़ उजाले में बिखर जाती है !!

ठंडी के मौसम में रात क्या पूरा दिन भी सर्द रहता है !!
तुझे भूलने के बाद भी दिल में हल्का सा दर्द रहता है !!

दिसंबर की सर्द रातों की तरह तुम भी ढल जाओगे !!
कुछ ही दिन में साल बदलेगा और तुम भी बदल जाओगे !!

ठंडी रातों को जून के महीने में तपते देखा है !!
हमने कई आशिकों को यादों में तड़पते देखा है !!

मेरी जिंदगी की कश्ती का किनारा हो तुम !!
सितारों से सजी चांदनी रात सा नजरा हो तुम !!

वो जब से मुझसे बेवफा हो गई !!
तब से मेरी नींद भी मुझसे खफा हो गई !!

सोचा सपनों में ही तुमसे कर लिया करेंगे मुलाकात !!
लेकिन, देखा है जब से तुमको नींद ही नहीं आती सारी रात !!

दोनों गायब हैं रात में आंखों की नींद और सुकून !!
अब तो बस दिल में रहता है तुमसे मिलने का जुनून !!

जागते हैं रातों को !!
कमबख्त काम ही खत्म नहीं होता !!
फिर कल की चिंता सताती है !!
और सुकून से नहीं सोता !!

सो नहीं पाते हैं रातों को !!
शायद तेरा दीदार हो जाए !!
अब तो बस यही तमन्ना है जिंदगी की !!
तुमसे बस एक बार मुलाकात हो जाए !!

आंखों से रातों की नींद चली गई है !!
तुमसे मिलने के बाद !!
ना कहीं चैन है और न सुकून !!
तुमसे मिलने के बाद !!

छाया है नशा बातों से !!
गायब है नींद आंखों से !!
सोया नहीं कई रातों से !!
तुम खेल गई जज्बातों से !!

सर्दी की इस कड़कती रात को गुजर जाने दो !!
मेरी अर्थी और तेरी बारात को गुजर जाने दो !!
मलाल होगा तुझे भी मुझे छोड़ कर जाने का !!
तेरी खुशियों की सौगात को गुजर जाने दो !!

Raat shayari sad

घर से कभी निकले ही नहीं !!
और बात करते हैं आवारागर्दी की !!
ठंडा पानी पीने से डरते हैं !!
और इंतजार है उन्हें रात भरी सर्दी की !!

अब तो इश्क के नाम से !!
घबराने लगे हैं लोग !!
सर्द रातों में पनाह देने से !!
कतराने लगे हैं लोग !!

सर्दी वाली रात हो !!
तू मेरे साथ हो !!
तेरे हाथ में मेरा हाथ हो !!
काश, ऐसी हसीन मुलाकात हो !!

नौकरी के हवाले कर अपने सुकून को !!
अब हम सभी बस पैसों के पीछे भागते हैं !!
दिन में भी चैन कहां था साहब !!
जो नींद गवांकर रात को भी जागते हैं !!

जब से तुमसे हमारी दिल्लगी हो गई !!
पहले तो चैन से सोता था मैं !!
लेकिन अब रातों की नींद कहीं खो गई !!

दिल भर गया है तेरी यादों से !!
दिल से निकल क्यों जाती नहीं !!
अब तो खोने को कुछ बचा ही नहीं !!
फिर भी नींद क्यों आती नहीं !!

तुम ही नहीं आदतें भी बदल गईं तेरी !!
अब तो वो कशिश भी नहीं रही बातों में तेरी !!
कहीं तुम ना आ जाओ सपनों में !!
इस डर से नींद ही नहीं आती रातों में !!

तमन्ना होती है जब भी तुझे देखने की !!
तो अपने रुख को तेरी ओर मोड़ लेते हैं !!
जब भी ठंडी रातों में सर्दी लगती है !!
तो तेरी यादों की चादर ओढ़ लेते हैं !!

जो तू है मेरे साथ में !!
गर्माहट हर बात में !!
ठंडक भरी रात में !!
खो जाऊं तेरे ख्यालात में !!

तेरी बातों से मुझे एक जुनून मिलता है !!
तेरी महक से ही मेरा मन खिलता है !!
जब होता है तेरे साथ होने का एहसास !!
तो ठंडी रातों में भी सुकून मिलता है !!

ठंडी रातों में जब भी तेरा ख्याल आता है !!
मैंने तुमसे इश्क क्यों किया !!
इसी बात का मलाल होता है !!

तेरी हर अदाओं में मेरे दिल का धड़कना !!
जैसे चांदनी रातों में हो तारों का चमकना !!
शुरुआत करते हैं ठंडी रात शायरी की !!

मुझे देखकर जो तुम हर बार मुस्कुराती हो !!
तो अमावस की रात में भी सवेरा सा लगता है !!
और जब रूठ कर तुम दूर चली जाती हो !!
तो चांदनी रात में भी अंधेरा सा लगता है !!

हर बार बह जाते हैं प्यार के जज्बात में !!
एक नशा सा छा जाता है तेरी हर बात में !!
दिन में तुम रहती हो तो सुकून होता है !!
लेकिन सो नहीं पाते हैं हम चांदनी रात में !!

दिल के ये जज्बात !!
जिसमें बसी है तेरी याद !!
बसें है तेरे ही ख्यालात !!
उफ्फ, ये चांदनी रात !!

इसे भी पढ़े :- Tanhayi Shayari in Hindi | तन्हाई शायरी 2 लाइन

Raat shayari ghazal

चांदनी रात है !!
तारों की बारात है !!
हाथों में हाथ है !!
प्यार की शुरुआत है !!

जब तुम मेरे पास होती हो तो !!
अमावस भी चांदनी रात होती है !!
फूल खिल जाते हैं रातों में और !!
आसमान से प्यार की बरसात होती है !!

वो एक दिन चला गया !!
अपने दिल की बात बोलकर !!
हम उसके इंतजार में बैठे हैं !!
हसीन चांदनी रात रोककर !!

बन रहा है अफसाना, दिल बेकरार है !!
थाम रखा है दिल, तेरे प्यार के इकरार में !!
आओगे तुम और बैठोगे साथ में !!
हम बैठे हैं उस चांदनी रात के इंतजार में !!

तुमने कुछ कहा ना कुछ सुना हमने !!
और इशारों में ही सारी बात हो गई !!
वक्त का पता दोनों को ही नहीं चला !!
लो फिर से हसीन चांदनी रात हो गई !!

चांदनी रात है !!
प्यार की बरसात है !!
तू मेरे साथ है !!
उफ्फ, क्या बात है !!

दिल में हर बात छिपा लेंगे !!
जिंदगी को यूं ही लुटा देंगे !!
तेरे आने के इंतजार में !!
हम हर तन्हा रात बिता लेंगे !!

डरते थे हम जिससे !!
फिर वही बात हो गई !!
जो तुम छोड़कर चले गए !!
जिंदगी एक तन्हा रात हो गई !!

तू ही बोल मुझे !!
तुझे भुलाऊं कैसे !!
बिना तेरे मैं अपनी !!
तन्हा रात बिताऊं कैसे !!

चली जाती हो हर रात मेरे आगोश से !!
तेरा जाना भी तो एक बहाना है !!
थोड़ी देर और ठहर जाओ साथ मेरे !!
क्या इस रात को भी तन्हा करके जाना है !!

किससे कहूं दिल की हर बात !!
सभी को बताना मुश्किल है !!
जो तू साथ नहीं मेरे तो !!
हर तन्हा रात बिताना मुश्किल है !!

हम आपको कभी खोने नहीं देंगे !!
जुदा होना चाहो तो भी होने नहीं देंगे !!
चांदनी रातों में जब आएगी मेरी याद !!
मेरी याद के वो पल आपको सोने नहीं देंगे !!

रात की चांदनी आपको सदा सलामत रखे !!
परियों की आवाज़ आपको सदा आबाद रखे !!
पुरे कायनात को खुश रखने वाला वो रब !!
हर दिन आप की ख़ुशी का ख्याल रखे !!

ऐ पलक तु बन्‍द हो जा !!
ख्‍बाबों में उसकी सूरत तो नजर आयेगी !!
इन्‍तजार तो सुबह दुबारा शुरू होगी !!
कम से कम रात तो खुशी से कट जायेगी !!

रात गुमसुम हैं मगर चाँद खामोश नहीं !!
कैसे कह दूँ फिर आज मुझे होश नहीं !!
ऐसे डूबा तेरी आँखों के गहराई में आज !!
हाथ में जाम हैं, मगर पीने का होश नहीं !!

Raat shayari in hindi love

ये रात चांदनी बनकर आपके आँगन आए !!
ये तारे सारे लोरी गा कर आपको सुलाए !!
हो आपके इतने प्यारे सपने यार !!
की नींद में भी आप मुस्कुराएं !!

कितनी जल्दी से मुलाक़ात गुजर जाती है !!
प्यास बुझती नहीं बरसात गुजर जाती है !!
अपनी यादों से कहो की यूँ ना सताया करे !!
नींद आती नहीं और रात गुजर जाती है !!

रात क्या हुई रोशनी को भूल गए !!
चाँद क्या निकला सूरज को भूल गए !!
माना कुछ देर हमने आपको SMS नहीं किया !!
तो क्या आप हमें याद करना भूल गए !!

याद तेरी हर पल सताती है मुझे !!
रात को नींद नहीं आती है मुझे !!
जब भी तेरा हसीन खयाल आता है मुझे
फिर बड़ी चैन की सांस आती है मुझे !!

तेरी याद जगाती है यूँ रातों मैं !!
चैन आता नहीं ख़्वाहिश -ए मुलाक़ातों मैं !!
लिपट गए है मेरे ख्वाब तेरी यादों से
ज़िंदगी मदहोश है प्यार के जज़्बातों मैं !!

रातों को तेरा तस्सवुर सताता है अब हमें !!
एक पल भी नहीं चैन आता है अब हमें !!
सब पूछते हैं हमसे क्यों तकते हो आसमां को !!
क्या बताओं चाँद में नज़र आता है तू हमें !!

देखो चिरगे -शाम जली रात हो गई !!
फिर मैकदे मैं नूर की बरसात हो गई !!
बे नाम सी ख़लिश है नज़र बदहवास है !!
कोई सबब नहीं है मगर दिल उदास है !!
कितनी अजब सुरते हालत हो गई !!
फिर मैकदे मैं नूर की बरसात हो गई !!

जहाँ तलक ये हसीं गुनगुनाती रात चले !!
नज़र-नज़र से मिले दिल से दिल की बात चले !!
हमारे दिल की तड़प कुछ तो अपने काम आए !!
किसी का नाम लूँ लब पे तुम्हारा नाम आए !!

बे नाम सी ख़लिश है नज़र बदहवास है !!
कोई सबब नहीं है मगर दिल उदास है !!
कितनी अजब सुरते हालत हो गई !!
फिर मैकदे मैं नूर की बरसात हो गई !!

ए दिल तेरी आहों में असर है की नहीं !!
जो हाल इधर है वो उधर है की नहीं !!
जिनकी खातिर रातें मेरी बे- खवाब होईं !!
उनको मेरे इस गम की खबर है की नहीं !!

रात क्या ज़िंदगी गुज़री तेरे बगैर !!
जाग कर उम्र गुज़ारी तेरे बगैर !!
फूलों पर भी कांटो को महसूस किया है हमने !!
इस तरा ह हयात गुज़ारी तेरे बगैर !!

मोहब्बत तो सिर्फ एक इत्तेफाक है !!
ये तो दो दिलों की मुलाकात है !!
मोहब्बत ये नहीं देखती कि दिन है या रात है !!
इसमें तो सिर्फ वफादारी और जज़्बात है !!

वो रात दर्द और सितम की रात होगी !!
जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी !!
उठ जाता हु मैं ये सोचकर नींद से अक्सर !!
के एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी !!

दिल की किताब में गुलाब उनका था !!
रात की नींद में ख्वाब उनका था !!
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा !!
मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था !!

रात का अँधेरा कुछ कह रहा !!
चाँद अपनी चांदनी में बह रहा !!
रात का अँधेरा संकेत दे रहा !!
चलो सो जाये ये कह रहा !!

इसे भी पढ़े :- Bhagavad Gita Quotes in Hindi…

Chandni raat shayari in hindi

इन सोई हुई आँखों को गुड नाईट कहने आये हैं !!
जो देख रहे हो उन ख़्वाबों में सलाम कहने आये हैं !!
दुआ है गुज़रे सबसे हसीं ये रात तुम्हारी !!
बस आज रात यही पैग़ाम देने आये हैं !!

यादों से तुम्हारी हम बेइन्तहा प्यार करते हैं !!
हर साँस हम तुम पर न्योछार करते हैं !!
कभी मिले वक़्त तो हमें भी याद कर लेना !!
हर रात हम तुम्हारी गुड नाईट का इंतज़ार करते हैं !!

भेजा है तारों को तुम्हे सुलाने के लिए !!
आया है गगन में चाँद तुम्हे लोरी सुनाने के लिए !!
खो जाओ अब इस मीठी रात के सपनों में तुम !!
सुबह भेजेंगे सूरज तुम्हे जगाने के लिए !!

जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है !!
रात होती है तो आँखों में उतर आता है !!
मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं !!
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है !!

कैसी बीती रात किसी से मत कहना !!
सपनो वाली बात किसी से मत कहना !!
कैसे उठे बादल और कहां जाकर टकराए !!
कैसी हुई बरसात किसी से मत कहना !!

दिन भर की थकान अब मिटा लीजिए !!
हो चुकी रात रोशनी बुझा लीजिए !!
एक खूबसूरत ख्वाब राह देख रहा है !!
बस पलकों का परदा गिरा लीजिए !!

जी चाहता हें तुम से प्यारी सी बात हो !!
हसीन चाँद तारे हो, लम्बी सी रात हो !!
फिर रात भर यही गुफ्तगू रखें हम दोनों !!
तुम मेरी जिंदगी हो, तुम मेरी कायनात हो !!

सितारों को आँखों में महफूज रखना !!
बड़ी देर तक रात ही रात होगी !!
मुसाफिर हैं हम, मुसाफिर हो तुम भी !!
किसी मोड़ पर फिर मुलाक़ात होगी !!

बेताब सा रहते हैं तेरी याद में अक्सर !!
रात भर नहीं सोते हैं तेरी याद में अक्सर !!
जिस्म में दर्द का बहाना बना के !!
हम टूट के रोते हैं तेरी याद में अक्सर !!

सितारों को आँखों में महफूज रखना !!
बड़ी देर तक रात ही रात होगी !!
मुसाफिर हैं हम, मुसाफिर हो तुम भी !!
किसी मोड़ पर फिर मुलाक़ात होगी !!

तु अपनी निगाहो से ना देख खुद को !!
चमकता हीरा भी तुझे पत्थर लगेगा !!
सब कहते होगे चाँद का टुकडा हैं तू !!
मेरी नजर चाँद तेरा टुकडा लगेगा !!

ऐ चाँद मुझे बता तू मेरा क्या लगता हैं !!
क्यों मेरे साथ सारी रात जागा करता हैं !!
मैं तो बन बैठा हू दिवाना उनके प्यार में !!
क्या तू भी किसी से बेपनाह मुहब्बत करता हैं !!

ढूँढ़ता हूँ मैं जब अपनी ही खामोशी को !!
मुझे कुछ काम नहीं दुनिया कि बातों से !!
आसमाँ दे ना सका चाँद अपनी आगन का !!
माँगती रह गई धरती कई रातो में !!

कितना हसीन चाँद सा चेहरा हैं !!
उसपे सवाब का रंग गहरा हैं !!
खुदा को यकीन ना था वफा पे !!
तभी चाँद पे तारों का बसेरा हैं !!

रात की गहराई आँखों में उतर आई !!
कुछ ख्वाब थे ओर कुछ मेरी तन्हाई !!
ये जो पलकों से बह रहे है हल्के हल्के !!
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *