Love Status

162 + Best Milan Shayari In Hindi | मिलन शायरी हिंदी

Milan Shayari In Hindi,
Milan Shayari,
मिलन शायरी इन हिंदी,
मिलन की रात शायरी,
Milan Status,
Milan ki shayari,
Famous Mulaqat Shayari in Hindi,
मुलाक़ात शायरी ,

मैं रेत की धारा तुम समन्दर का किनारा !!
देखो ना कितना हसीन है मिलन हमारा !!

हरकतें वही हैं बस अंदाज बदलने लगे हैं !!
तुझसे मिल कर हम तेरे रँग में रंगने लगे हैं !!

किसी में मिल कर पूरा होना नहीं है मुमकिन !!
जिससे बाँट सको अपना अधूरापन वहाँ ठहर जाना !!

ख्वाबों में तो कई बार मिले हैं !!
अब हकीकत में मिलना है तुमसे !!

मिलने से पहले जो यूँ मिल गए हो मुझको !!
मिलने के बाद फ़िर तो गज़ब मिलोगे मुझमें !!

सीने से लगाके सुन तू धड़कन मेरी !!
जो हरपल तुझसे मिलने की ज़िद करती है !!

मिलन हो तो ऐसा हो जैसा दूध और पानी का !!
रेत और पानी का मेल जाने क्यों मुझे रास नहीं आता !!

कुछ तो खुदा की भी खुदारी रही होगी इसमें !!
जो इतनी आसानी से हमें मिलाया है !!

किसे चाहिए अपनी खुशीयों कि जान !!
जो मिलन से बढ़कर बिछड़ने का मोह जानता हो !!

मैं रेत की धारा तुम समन्दर का किनारा !!
देखो ना कितना हसीन है मिलन हमारा !!

दोनों ही दरिया हो तो मिलन कैसे हो !!
किसी एक का प्यासा होना भी जरूरी है !!

देखो फ़लक पर हमारा मिलन हो रहा है !!
कि फिर इक शाम हो चली है !!

तेरा मेरा मिलन शफ़क़ सा ही हैं !!
कुछ पल ठहरता हैं अंधेरे में खोने से पहले !!

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के !!
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है !!

आओ फिर से अजनबी बन कर मिलें !!
तुम मेरा नाम पूछो मैं तुम्हारा हाल पूछूँ !!

इसे भी पढ़े :- King Shayari In Hindi

Milan Shayari In Hindi

बिन मिले ही इतना न मिला करो हमसे !!
इज़हार-ए-इश्क़ में इक़रार सा हो जाता है !!

जिस्मों के मिलन को मोहब्बत समझने वालों !!
जिस्म से आगे इक रूह भी हैं !!

आओ फिर से अजनबी बन कर मिलें !!
तुम मेरा नाम पूछो मैं तुम्हारा हाल पूछूँ !!

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के !!
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है !!

मुझे अच्छा लगता है तेरा हमसफ़र हो जाना !!
मिलकर तूझसे यारा फिर कही गुम हो जाना !!

अब नहीं रहता मुझे बसंत का इंतज़ार !!
तुम्हारे आने से ज़िंदगी ही बन गयी बहार !!

जिस्मों के मिलन को मोहब्बत समझने वालों !!
जिस्म से आगे इक रूह भी हैं !!

बिन मिले ही इतना न मिला करो हमसे !!
इज़हार-ए-इश्क़ में इक़रार सा हो जाता है !!

मेरे ज़ज़्बातों की चिंगारी को आपने हवा क्या दी !!
मेरे दिल में तेरे नाम की आग-सी लग गयी है !!

नमकीन-सी मेरी ज़िंदगी में मिठास घोल देते हो !!
बिन सुने मुझे मेरे दिल की बात बोल देते हो !!

तेरी यादें तेरी बातें बस तेरे ही फ़साने है !!
हां क़ुबूल करते है कि हम तेरे ही दीवाने है !!

बेनाम थी ज़िंदगी मेरी !!
अब मोहब्बत नाम रख दिया है उसका !!

जब-जब तेरा साथ मिल जाता है !!
सुकून भी मेरे पास आ जाता है !!

आइना देखती हूँ खुद को देखने के लिए !!
मगर कमाल है नज़र तुम आ जाते हो !!

किनारे से अब, नहीं हम लौटेंगे !!
इश्क़ के दरिये में, जी भर के डूबेंगे !!

Milan Shayari

जैसे ख्याल तुम्हारा आता है बार-बार !!
तुम क्यों आके रह जाते हो हफ्ते में एक-बार !!

जब तुम्हारा आना होता है !!
ना जाने मेरा होश कहा चला जाता है !!

जब-जब तुमसे मिलना घट जाता है !!
मेरा प्यार उतना ही बढ़ जाता है !!

मेरी आँखों को कभी पढ़के देखना !!
तुम्हारे नाम के सिवाय और कुछ नहीं मिलेगा !!

सोते-जागते बस तुम दिखते रहते हो !!
खुशबू बनकर साँसों में हर रोज़ बिखरते रहते हो !!

करने दो ना हमें दीदार अपना !!
ताकि सच होने लगे मेरी आँखों का सपना !!

मैं प्यासा, दरिया हो तुम !!
मेरी खुशियों का, इकलौता जरिया हो तुम !!

तुझ से मिलने को बे-क़रार था दिल !!
तुझ से मिल कर भी बे-क़रार रहा !!

कुछ याद आया तो लिखेगें फिर कभी !!
फिलहाल तो रूह बेचैन है तुम्हे देखने को !!

हर लम्हा खूबसूरत हो जाएगा !!
जब वो हमसे मिलने आएगा !!

मुझे एक इश्क मुकम्मल करना है !!
हाँ ये सच है मुझे तुमसे निकहा करना है !!

तुमसे फिर कब मिलना होगा !!
ज़ख़्म का फिर कब सिलना होगा !!

ऑंखे बंद करके तुझे महसूस करने के अलावा !!
तुमसे मिलने का और कोई रास्ता नहीं !!

तुम्हारा ना होना खल जाता है !!
कितना प्यार है तुमसे पता चल जाता है !!

अब बहक ही गयी हो बाहों में मेरी !!
तो थोड़ा वक़्त लगेगा रिहाई में तेरी !!

मिलन शायरी इन हिंदी

तेरी ज़ुल्फ़ों की छाओ मिले तो इनमें पूरी शाम गुजारा करूं !!
पूरी उम्र का सफर उस एक पल के सहारे गुजारा करूं !!

किसी में मिल कर पूरा होना नहीं है मुमकिन !!
जिससे बाँट सको अपना अधूरापन वहाँ ठहर जाना !!

तुमसे मिलना और मिलकर बिछड़ना हमारा नसीब था !!
हम चाह के भी कुछ न कर सके दिल जलता रहा और समंदर करीब था !!

क्या हुआ मुलाकात नहीं होती तो मेरी जान !!
प्यार तो फिर भी बेशुमार करते हैं !!

सोचता हु दोस्तों पर मुकदमा कर दू !!
इसी बहाने तारीखों पर मुलाकात हो होगी !!

छोड़ कर चले गए यूं हमसे क्या बेरुखी थी !!
मिले थे जब हम से वो मुलाकात ही अधूरी थी !!

चलो फिर चाय पर तुम शायरी की कुछ बात हो जाये !!
दो पल की ही सही पर एक मुक़्क़मल मुलाकात हो जाये !!

शायद वो मेरी जिंदगी की आखिरी हसीन बरसात थी !!
तुमसे मिलकर बिछड़ जाना वो आखिरी मुलाकात थी !!

तेरी हर बात ने मुझे उस दिन हैरान कर दिया !!
उस आखिरी मुलाकात ने मुझे परेशान कर दिया !!

हस के देख लेना मुझे जब आखरी मुलाकात हो तो !!
क्या पता अगली बार मुझे कफ़न में देखो और मुस्कुरा भी न पाओ !!

छोड़ कर चले गए यूं हमसे क्या बेरुखी थी !!
मिले थे जब हम से वो मुलाकात ही अधूरी थी !!

मुझे खुद से मुलाकात हो गई तुम मिले तो !!
कुछ भी तो कहा नहीं मगर जिंदगी से बात हो गई !!

अधूरे से रह गए हैं हम तेरी इन अधूरी मुलाकातों में !!
जान निकल जाती है मेरी तेरी इन जुदाई वाली बातों में !!

कुदरत के करिश्मों में अगर रात न होती !!
ख्वाबों में भी फिर उनसे मुलाक़ात न होती !!

कब हमारे दिल की बात पूरी हुई है !!
उनसे मिलने पर भी हर मुलाकात अधूरी हुई है !!

इसे भी पढ़े :- Moon Quotes In Hindi

मिलन की रात शायरी

आंखों में थे आंसू जुदाई के पर दिल की बात पूरी ना हो सकी !!
मिले नहीं उनसे कभी पर आखिरी मुलाकात पूरी ना हो सकी !!

एक अलग सुकून देती हे दोस्तों से मुलाकात !!
इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में एक अलग उमंग देती है !!

उन्होंने पूछा तोहफे में क्या चाहिए !!
हमने कहा की वो मुलाकात जो कभी ख़त्म ना हो !!

ना ही किसी और के और ना हुए हम तुम्हारे !!
आखिरी मुलाकात के बाद मानों हो गए बेसहारे !!

ये मुलाक़ात मुलाक़ात नहीं होती है !!
बात होती है मगर बात नहीं होती है !!

मुझसे मिलना अब ख्वाबों मैं हीं मुकम्मल हो सकता है !!
क्योंकि जालिम दुनिया मोहब्बत से पहले एक दूसरे का धर्म पूछ लेती है !!

हमसफ़र का किसी मोड़ पे मुड़ना हुआ !!
किस्मत की बात थी खुद का खुद से मिलना हुआ !!

उससे मिलने में कोई पाबंदी नहीं अब !!
मैं भी एक ख़्याली परिंदा हो चला हूँ !!

आओ दो पल साथ गुजार लो प्यार से !!
फिर ऐसा मिलन हो न हो !!

लबों ने लबों से कुछ ना कहा और बात पूरी हो गई !!
लेकिन फिर भी ऐसा लगा कि मुलाकात अधूरी हो गई !!

हर मुलाक़ात पे सीने से लगाने वाले !!
कितने प्यारे हैं मुझे छोड़ के जाने वाले !!

सामने बैठे रहो दिल को करार आएगा !!
जितना देखेंगे तुम्हें उतना ही प्यार आएगा !!

कुछ तुम कहते कुछ हम कहते तो ही बात पूरी है !!
ना तुम कुछ कहो और ना हम यूं तो मुलकात अधूरी है !!

अजीब का प्यार था उसकी उदास आँखों में !!
महसूस तक न हुआ की मुलाकात आखरी है !!

पूरी दुनिया के जज्बात एक तरफ !!
तुमसे रात को छत पर मुलाकात एक तरफ !!

Milan Status

दिल के रिश्ते किस्मत से मिलते है !!
वरना मुलाक़ात तो हजारों से होती हैं !!

खामोशियां बोल देती हैं जिनकी बातें नहीं होती !!
इश्क उनका भी कायम रहता है जिनकी मुलाकाते नहीं होती !!

बेवजह ही तो नहीं होती मुलाकातें अंजानो से !!
कोई तो अधूरा रिश्ता पूरा होता होगा !!

काफ़ी नहीं ख्वाब किसी बात के लिए !!
तशरीफ़ लाएं हसीं मुलाक़ात के लिए !!

तुझसे मुलाकात की एक ख्वाहिश है !!
यूँ तो मेरे फोन मे तेरी तस्वीर कई हैं !!

तरसेगा जब दिल तुम्हारा हमसे मुलाकात को !!
ख्वाबों में होंगे तुम्हारे हम उसी रात को !!

देखना एक दिन हम मर जायेगे !!
तुझसे मुलाकात की ख्वाहिश लिये !!

वादों की तरह इश्क भी आधा रहा !!
मुलाकातें कम रही इंतजार ज्यादा रहा !!

आँख भर आई किसी से जो मुलाक़ात हुई !!
ख़ुश्क मौसम था मगर टूट के बरसात हुई !!

सूरज के सामने कभी रात नहीं होती !!
श्मशान में जाने के बाद मुलाकात नहीं होती !!

तुम मिले तो क्यू लगा मुझे की खुद से मुलाक़ात हो गयी !!
कुछ भी कहा तो नही मगर जिंदगी से बात हो गयी !!

अजीब मुलाकातों के किस्से है हमारे !!
सुकून पाते है दीदार ख्वाब मैं करके तुम्हारे !!

पहली मुलाकात अब भी याद है उनको देर हो रही थी !!
फिर भी मेरा हाथ पकड़ रखा था !!

आपसे दूर रह कर हर लम्हा आपके नाम कर दिया !!
चंद मुलाकात मे आपने मेरे दिल घायल कर दिया !!

बहुत मन कर रहा है तुमसे मिलने का !!
हो सके तो कुछ पल के लिए !!
आज ख्वाबों में आ जाना !!

इसे भी पढ़े :- Chahat Shayari in Hindi

Milan ki shayari

तुम ठहरे हुँए तालाब !!
मै हूँ बहती नदी प्रिये !!
ऐसे में मुश्किल है !!
अपना मिलन प्रिये !!

मिलन की रात थी !!
जल रहा था दिल का दिया !!
बड़ी खूबसूरत थी तन्हाई भी !!
धड़क रहा था जिया !!

बेवजह, बेवक्त, बेहिसाब !!
अंबर जो बरस रहा !!
मिलन है ये तेरा मेरा !!
बरसों बाद जो हो रहा !!

मिलन की उम्मीद नहीं !!
फिर भी तेरा इंतजार है !!
अब कैसे बताऊं मैं किस कदर !!
इस दिल में तेरे लिए प्यार है !!

मुझे अच्छा लगता है !!
तेरा हमसफ़र हो जाना !!
मिलकर तूझसे यारा !!
फिर कही गुम हो जाना !!

मैं लड़का सीधा-साधा !!
तू लड़की शैतान प्रिये !!
होगा अपना जल्द मिलन !!
तुम मत होना परेशान प्रिये !!

बंधन ऐसा बांध कि रूह से !!
रूह का मिलन हो जाए !!
तू सोचे मेरा नाम और !!
मेरे दिल को खबर हो जाए !!

तेरे मेरे मिलन का कुछ !!
ऐसा अनूठा मंज़र होगा !!
जैसे रेगिस्तान की तलब मिटाने आई !!
हो बे-मौसम बारिश कोई !!

मिलन का एक ख्वाब रखता हूँ !!
तेरी चाहत का ख्याल रखता हूँ !!
हो हमारा मिलन ख़्वाब्बो की तरह !!
हकीकत बनाने का ये प्रयास करता हूँ !!

मिलन का एक ख्वाब रखता हूँ !!
तेरी चाहत का ख्याल रखता हूँ !!
हो हमारा मिलन ख़्वाब्बो की तरह !!
हकीकत बनाने का ये प्रयास करता हूँ !!

तेरे मेरे मिलन का कुछ !!
ऐसा अनूठा मंज़र होगा !!
जैसे रेगिस्तान की तलब मिटाने आई !!
हो बे-मौसम बारिश कोई !!

बंधन ऐसा बांध कि रूह से !!
रूह का मिलन हो जाए !!
तू सोचे मेरा नाम और !!
मेरे दिल को खबर हो जाए !!

मैं लड़का सीधा-साधा !!
तू लड़की शैतान प्रिये !!
होगा अपना जल्द मिलन !!
तुम मत होना परेशान प्रिये !!

आसान नहीं है तुम्हे चाहना !!
क्यूंकि नींदों को भूलना पड़ता है !!
सुकून को गवाना पड़ता है !!

कहा जाऊंगा मैं तुम्हे छोड़कर !!
कि तुम्हारे बिना जब रात नहीं गुज़रती !!
तो ज़िंदगी कैसे गुज़रेगी !!

Famous Mulaqat Shayari in Hindi

उनसे मिलने को दिल चाहता है !!
कुछ सुनने सुनाने को दिल चाहता है !!
था किसी के मनाने का अंदाज़ ऐसा !!
फिर रूठ जाने को दिल चाहता है !!

अब नही इंतज़ार होता है !!
याद आती है आपकी !!
तो दिल बेचैन हो जाता है !!

आज फिर तुमसे मिलने को दिल चाहता है !!
पास बैठ कर बाते करने को दिल चाहता है !!
इतना हसीन था उनका आँसू पोछना !!
की आज फिर रोने को दिल कहता है !!

कहते है कौन मिलता है !!
मतल्ब पूरा हो जाने के बाद !!
पर हमे तो और भी अछा लगता है !!
दिल मिलने के बाद !!

मिलना है तुमसे, खोने से पहले !!
कहना है तुमसे, रूठने से पहले !!
रूठना है तुमसे, जाने से पहले !!
और जीना है तुम्हारे साथ, मरने से पहले !!

दिल तो चाहता है तुमसे मिलना !!
लेकिन फासलों की मजबूरी है !!
हम तो सदा तेरे साथ है !!
सिर्फ़ नज़रों की दूरी है !!

ज़िन्दगी में कभी तू उदास मत होना !!
क्योंकि हमेशा मैं तेरे साथ हूँ !!
मेरी याद आये अपनी पलके बन्द कर लेना !!
मैं तेरे कहीं आस पास हूँ !!

जज़्बात बहक जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं !!
अरमान मचल जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं !!
मिल जाते हैं आँखों से आँखें, हाथों से हाथ !!
दिल से दिल, रूह से रूह जब तुमसे मिलते हैं !!

न जाने वो क्यूँ मुझसे खफा हो जातें हैं !!
मुझे लगता है शायद वो मुझे आजमाते हैं !!
उनकी यादों को तो हम इस तरह सीने से लगा रखेंगे !!
चाहे भले ही वो मुझे दूर से बुलातें हैं !!

जब उनका जिक्र छिड़ जाता है !!
तो एक इत्र सा फ़िज़ाओं में महक जाता है !!
जब वो मुझे अपनी झील सी आंखों से देखतें है न !!
तब मेरा दिल पल दो पल को ठहर सा जाता है !!

जब भी तुझसे मुलाकातें होने लगतीं हैं !!
एक अजब सी लहर सीने में दौड़ने लगती है !!
यूँ तो हजारों हैं इस जमाने मे दिल लगाने के लिए !!
फिर भी न जाने क्यूँ ये तेरे चहरे पर ठहरने लगतीं हैं !!

इश्क कहूँ इसे या नज़रों का धोखा कहूँ !!
क्योंकी आज तक हमे ये हुआ नही !!
उसे देखकर सांसें रुक गई दिल की धड़कन ठहर गई !!
क्योंकि आज से पहले दिल के साथ ऐसा हुआ नही !!

दिल मैं किसी का भी दुख नहीं !!
दिल की मेरी आदत नहीं !!
एक बार इस दिल मे !!
फिर भी मैं किसी भी तरह से नहीं !!

रात में खुदा से मुलाकात हुई !!
थोड़ी हुई लेकिन बात जरूर हुई !!
मैने आपके बारे में ही पूछा की !!
ये इंसान मेरे लिए कैसा हे तो खुदा बोला !!
इनसे रिश्ता बनाये रखना बिलकुल मेरे जैसा हैं !!

सब हालात रहे बस में सदा आपके !!
खुशियों से सदा आपकी मुलाकात रहे !!
मंजिले मिलती रहे रब की महेरबानी से !!
ईश्वर की कृपा आप पर दिन रात रहे !!

इसे भी पढ़े :- Jigri Yaar Status in Hindi

मुलाक़ात शायरी

सलामत रखना हमसे मुलाकात की दरकार !!
दुआ में इस नाचीज को सरकार सलामत रखना !!
माना की आपको वक्त नहीं मिलता दुनियादारी से !!
अपनी मसरुफियत में मेरा इतवार सलामत रखना !!

सुबह को जो नींद से जागे तबरात का !!
ख्याब याद आया गयाक्या खूब रही थी !!
सपनो में पहली मुलाक़ात आपसे !!

मैं तेरी याद में रात भर नहीं सोया !!
आखिरी मुलाकात के बाद !!
सच कहो क्या तुम्हारा दिल नहीं रोया !!
आखिरी मुलाकात के बाद !!

भरी बरसात में तुम हमें छोड़ गए !!
हम को तन्हा कर क्यों मुंह मोड़ गए !!
चाहते तो बिता सकते थे पूरा जीवन मेरे साथ !!
आखिरी मुलाकात में मेरे दिल को तोड़ गए !!

दिल की बात अभी अधूरी है !!
तेरी मेरी मुलाकात अभी अधूरी है !!
बहुत कुछ कहना है तुझसे मिलकर !!
तेरे बिना मेरी कायनात अधूरी है !!

एक बार फिर मेरे दिल पर हाथ रख लो !!
एक बार फिर मेरे जजबात तो पढ़ लो !!
अपने लिए ना सही मेरे दिल के लिए !!
आखिरी ही सही मुलाकात तो कर लो !!

दिन हुआ हे तो रात भी होगी !!
हो मत उदास बात भी होगी !!
इतने प्यार से दोस्ती की हे आपसे !!
ज़िन्दगी रही तो मुलाक़ात भी होगी !!

मुलाकात के वो अधूरे किस्से रह गए !!
जुदाई के दर्द बस मेरे हिस्से रह गए !!
तुम तो मिल ही सकते थे किसी बहाने से !!
लेकिन तेरे सितम को हम हस्ते हस्ते सह गए !!

अधूरी मुलाकात थी !!
आंसू की बरसात थी !!
छोड़ दिया तूने मुझको !!
तू मेरी कायनात थी !!

मत रहो दूर इतना हमसे की कल !!
तुम्हे अपने फैसले पर अफसोस हो जाये !!
कल शायद हमारी ऐसी मुलाक़ात हो !!
की आप हमसे लिपटकर रोये और !!
हम खामोश हो जाये !!

उस दिन हुई हमारी हर बात आखिरी थी !!
तुम्हारे साथ गुजारी वो रात आखिरी थी !!
हमने सोचा बिताएंगे जिंदगी तुम्हारे साथ !!
पर क्या पता था वो मुलाकात आखिरी थी !!

इस अदा से मिले वो हमसे कि !!
हमें उनसे एतबार हो गया !!
वो मुलाकात थी पहली और !!
हमें उनसे प्यार हो गया !!

चलो फिर चाय पर तुम शायरी की कुछ !!
बात हो जाये दो पल की ही सही पर !!
एक मुक़्क़मल मुलाकात हो जाये !!

दिल में जो बातें हैं उन्हें पूरी ना कीजिए !!
जब मन हो मिल लीजिए !!
मुलाकात को अधूरा ना कीजिए !!

मुलाकात हुई हे आज रब से !!
आपके बारे में थोड़ी सी बात हुई है !!
क्या दोस्त दिया हे मेने पूछा !!
रब ने कहा संभाल के रखना मेरी परछाई है !!

दिल में एक टीस उठती है आज भी !!
तुम याद बहुत आते हो आज भी !!
वो आखिरी मुलाकात में आखिरी अल्फाज तेरे !!
मेरे कानों में सुनाई देते हैं आज भी !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *