Festival

Latest 250+ 15 August Speech In Hindi 2023 | 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर जोशीला भाषण हिन्दी 2023

15 August Speech In Hindi-15 अगस्त 2023 को भारत अपना 75 साल पुरे करके 76 वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है, इसी दिन हमें अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। यह दिन आजादी के लिए अपना बलिदान देने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद करने का दिन है।

15 अगस्त के दिन स्कूल, कॉलेजों में भाषण आदि का आयोजन किया जाता है। स्वतंत्रता दिवस में मौके पर अगर आप अपने विचार व्यक्त करना चाहते हैं। और स्वतंत्रता दिवस पर भाषण की तैयारी करना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा यहां लिखे गए {Hindi Speech } को इस्तेमाल कर सकते हैं। 15 अगस्त स्पीच इन हिंदी फॉर स्कूल (Independence Day Speech) स्पेशली बच्चों के तैयारी के लिए तैयार किये गए हैं।

15 August Speech In Hindi 2023,15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर जोशीला भाषण हिन्दी,15 august,15 august speech,15 august hindi speech

!! Independence Day Speech In Hindi-1 !!

आदरणीय अतिथि महोदय, आदरणीय प्रधानाचार्यजी, सभी अध्यापकगण, अभिभावक और मेरे प्यारे दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते ही है कि आज हम यहाँ पर अपने देश का 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाने के उपलक्ष में एकत्रित हुए है। सबसे पहले मैं आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई देता हूँ /देती हूँ। 15 अगस्त भारतवर्ष का राष्ट्रीय पर्व है। भारत देश वर्ष 1857- वर्ष 1947 तक स्वतंत्रता संग्राम लड़ने के पश्चात ब्रिटिश शासन से 15 अगस्त वर्ष 1947 को मुक्त हुआ और एक स्वतंत्र राष्ट्र बना। तभी से भारतवासी इस दिन को “स्वतंत्रता दिवस” के रूप में बहुत सी धूम-धाम और हर्षोउल्लास से मनाते है।

आओ झुककर सलाम करें उन्हें !!
जिनकी जिंदगी में मुकाम आया है !!
किस कदर खुशनसीब है वो लोग !!
जिनका लहू भारत के काम आया है !!

स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत तब से हुई जब मंगल पांडे नामक क्रांतिकारी को ब्रिटिश शासन के अंग्रेज अधिकारी ने गोली मारी थी। तभी से सम्पूर्ण भारत देशवासियों ने अंग्रेजों के खिलाफ आवाज उठाई। हमे और हमारे देश को ब्रिटिशों से यह आजादी इतनी आसानी से नहीं मिली है। देश की आजादी पाने के लिए बहुत से क्रांतिकारी सेनानियों ने बलिदान दिया जैसे कि- महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, मंगल पांडे, बाल गंगाधर तिलक, पंडित जवाहरलाल नेहरू, लोक मान्य तिलक, लाला लाजपत राय और खुदीराम बोस आदि।

आजादी की लड़ाई लड़ने के लिए महात्मा गांधी ने सत्याग्रह आंदोलन चलाया और कई बार तो उन्हें जेल भी जाना पड़ा। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। क्योकि उनका एकमात्र लक्ष्य भारत देश को ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाना था और काफी अत्याचार सहने और संघर्ष करने के पश्चात फलस्वरूप वे सफल भी हुए। स्वतंत्रता सेनानिओं के लिए कुछ लाइनें कहना चाहुँगी/चाहुँगा –

नमन है उन वीरों को जिन्होंने इस देश को बचाया !!
गुलामी की मजबूत बेड़ियों को !!
अपने बलिदान के रक्त से पिघलाया !!
और भारत माँ को आजाद है कराया
!!

15 अगस्त वर्ष 1947 को भारत के इतिहास को स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया। इसी दिन देश के आजाद होने पर भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर झंडा फहराया था। तभी से प्रत्येक वर्ष देश के प्रधानमंत्री लाल लिखे पर झंडा फहराते है, राष्ट्रगान गाते है और सभी शहीद स्वतंत्रता सेनानियों को 21 तोपों से श्रद्धांजलि दी जाती है।

देश के प्रधानमंत्री हर साल देशवासियों को अपने भाषण के द्वारा सम्बोधित करते है और सेना द्वारा अपना शक्ति प्रदर्शन और परेड मार्च करते है। स्वतंत्रता दिवस के दिन सभी भारतवासियों के मन में देशभक्ति की भावना के साथ-साथ पूर्ण जोश रहता है। आजादी के बाद भारत देश अब तक बहुत उन्नति कर चुका है।

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के दिन सभी विद्यालय, कॉलिज, संस्थान, बाजार, कार्यालय और कारखाने आदि बंद रहते है। इस दिन सरकारी छुट्टी होती है। जगह-जगह पर झंडा फहराया जाता है। स्कूलों, कॉलिजों आदि में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिसमें सभी छात्र-छात्राएं भाग लेते है और देशभक्ति के गीत गाते है, कोई कविता सुनाता है तो कोई सांस्कृतिक गीतों पर नृत्य करते है।

!! 15 August Pe Article In Hindi !!

15 August भारत देश के गर्व और सौभाग्य का दिवस है। यह पर्व हमारे हृदय में नवीन स्फूर्ति, नवीन आशा, उत्साह तथा देश-भक्ति का संचार है। स्वतंत्रता दिवस हमे इस बात बात की याद दिलाता है कि हमने कितनी कुर्बानियाँ देकर यह आजादी प्राप्त की है, जिसकी रक्षा हमे हर कीमत पर करनी है। चाहे हमे इसके लिए अपने प्राणों का त्याग क्यों न करना पड़ें। इस प्रकार हम स्वतंत्रता दिवस के पर्व को पूर्ण उत्साह, उमंग और जोश के साथ मनाते है और राष्ट्र की स्वतंत्रता और सार्वभौमिकता की रक्षा का प्रण लेते है। जाते-जाते मैं बस इतना ही कहना चाहूंगी/चाहूंगा कि –

भूल न जाना भारत माँ के सपूतों का बलिदान !!
इस दिन ले लिए जो हुए थे हँसकर कुर्बान !!
आजादी की खुशियाँ मनाकर लो शपथ ये कि !!
बनाएंगे देश भारत को और भी महान
!!

जय हिन्द !………. जय भारत !……..

!! 15 अगस्त पे भासन कैसे दे? !!

अपना परिचय दें
अपने भाषण की संरचना करें
लंबे वाक्य से बचें
अपने विषय पर ध्यान दें
दर्शकों को भी देखते रहें
कविता या देशभक्ति शायरी के साथ भाषण समाप्त करें।
यहां उपस्थित सभी सज्जनों (गुरुजनों )को मेरा नमस्कार या प्रणाम

आज हम सब यहां भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाने और हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने के लिए एकत्र हुए हैं जिन्होंने हमारे लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। हम गुलाम होने का दर्द नहीं समझ सकते। हम शांति से रह रहे हैं क्योंकि उन्होंने हमारी आजादी के लिए खुद को बलिदान कर दिया। महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस और कई अन्य लोगों ने हमारे देश को ब्रिटिश शासन से मुक्त करने के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया। आजादी की लड़ाई 1857 में शुरू हुई जिसके परिणामस्वरूप 1885 में भारतीयों का जन आंदोलन हुआ। फिर महात्मा गांधी एवं कई और आगे आए आजादी की लड़ाई लड़ने के लिए।

तो आइए, आजादी के बाद की अपनी उपलब्धियों को याद करने की कोशिश करते हैं। स्वतंत्रता दिवस के बाद, भारत ने प्रत्येक वयस्क को वोट देने का अधिकार दिया। 1951 में रेलवे नेटवर्क का राष्ट्रीयकरण किया गया था और अब यह दुनिया के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क में से एक है। 1951 में भारत में पहला आम चुनाव हुए, जिसमे जवाहर लाल नेहरू भारत के पहले प्रधान मंत्री बने। भारत ने अपना पहला विश्व कप 1983 में जीता। भारत ने 2008 में ओलंपिक खेलों में अपना पहला स्वर्ण पदक जीता। हम कह सकते हैं कि भारत केवल आगे और आगे बढ़ रहा है।

आज, हमें अपने शिक्षा के अधिकार, बोलने के अधिकार की स्वतंत्रता है। हमारा देश दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्रों में से एक है। भारत डॉक्टरों, इंजीनियरों और वैज्ञानिकों के मामले में दुनिया के सबसे बड़े देशों में से एक है। आजादी के बाद हम काफी आगे आ चुके हैं।

आजादी की लड़ाई के लिए स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने लोगों के अंदर परिवर्तन लाने की शुरुआत की जिसके फल स्वरूप देश आजाद हुआ , परिवर्तन आप से शुरू होता है – परिवर्तन के लिए न पूछें और न ही प्रतीक्षा करें। चीजें तभी बदलेंगी जब आप बदलना शुरू करेंगे। अगर आपको लगता है कि आपकी कॉलोनी साफ-सुथरी होनी चाहिए, तो शुरुआत अपने कमरे की सफाई से करें।

हमें अपने जीवन में सपने देखने चाहिए और उन्हें पूरा करने के लिए मेहनत करनी चाहिए, अगर हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने एक स्वतंत्र भारत का सपना देखा है, तो यही कारण है कि वे इसे हासिल करने में सक्षम हुए थे। सपने देखना कभी बंद न करें क्योंकि अगर आप सपने देखना बंद कर देते हैं तो आप जीना बंद कर देते हैं।

तो आइए आज स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने आप से एक वादा करें कि हम भाईचारा बनाए रखते हुए, सभी की मदद करके और खुद को शिक्षित करके हमेशा अपने देश की रक्षा करेंगे। अब, मैं अपना स्वतंत्रता दिवस भाषण कुछ पंक्तियों के साथ समाप्त करना चाहूंगा !!

दे सलामी इस तिरंगे को !!
जिस से तेरी शान हैं !!
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका !!
जब तक दिल में जान हैं !!
जय हिंद, जय भारत !!
स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *