Sad Status

297+ Best Marne wali shayari In Hindi | मरने वाली शायरी

यहाँ गरीब को मरने की इसलिए भी जल्दी है साहब !!
कहीं जिन्दगी की कशमकश में कफ़न महँगा ना हो जाए !!

मौत-ओ-हस्ती की कशमकश में कटी उम्र तमाम !!
गम ने जीने न दिया शौक ने मरने न दिया !!

marne wali shayari,
marne ki shayari,
marna shayari,
mar jane wali shayari,
marne wala shayari,
marne wale status,
marne wali dp,
marne wali shayari in hindi,
marne wala status,
marne par shayari,
marne wala dp,
marne ka status,
marjana shayari,
mar jana shayari,
marne ke upar shayari,
marne wali shayari dp,
marne ke liye shayari,
mar jane ki shayari,

खबर सुनकर मरने की वो बोले रक़ीबों से !!
खुदा बख्शे बहुत-सी खूबियां थीं मरने वाले में !!

पता नही कौन सा जहर मिलाया था तुमने मोहब्बत मे !!
ना जिंदगी अच्छी लगती है और ना ही मौत आती है !!

अब तो बस मौत की ही प्राथना करते हैं हम !!
इस बेरूखी जिंदगी में बस हर पल गम ही पाते है हम !!

अब तो बस तेरी ही यादो के सहारे जी रहे है !!
इस मौत जैसी जिंदगी में घुट-घुट कर मर रहे है !!

तेरी महोब्बत की कमी मुझे हर पल महसूस होती है !!
तेरे बिना जिंदगी मुझे मौत से भी बत्तर लगती है !!

मेरे मरने के बाद किसी को कोई ख़ास फ़र्क़ तो नहीं होगा !!
बस एक तन्हाई रोयेगी की मेरा हमसफ़र चला गया !!

किसी की यादों में तड़पने से बेहतर है मर जाना !!

मरने को दिल करता है !!
जब अपने ही हमसे दगा करने लगते है !!

एहसान करो तो अपनी दुआओं में मेरी मौत मांगना !!
अब जी भर गया है जिंदगी से !!

हमे मोहब्बत उनसे इस कदर है !!
वो ना मिले तो मर जाऊंगा !!

कुछ नहीं तो बस एक दिन ऐसा आये !!
उसी के सामने मुझे सरे आम मौत आ जाये !!

मरने को दिल करता है !!
जब अपने ही हमसे दगा करने लगते है !!

मेरे दिल का बस एक ही कसूर है !!
इसका उससे इश्क़ करना ही सबसे बड़ा जुर्म है !!

इसे भी पढ़े :- Happy New Year Shayari in Hindi | हैप्पी न्यू ईयर शायरी

Marne wali shayari In Hindi

अब तो बस मौत की ही प्राथना करते हैं हम !!
इस बेरूखी जिंदगी में बस हर पल गम ही पाते है हम !!

तेरी महोब्बत की कमी मुझे हर पल महसूस होती है !!
तेरे बिना जिंदगी मुझे मौत से भी बत्तर लगती है !!

अगर हमसे कोई भूल चूक हो गयी थी तो बता देते !!
हमें यूह इस तरह मरते हुए छोड़कर तो ना जाते !!

अब तो बस तेरी ही यादो के सहारे जी रहे है !!
इस मौत जैसी जिंदगी में घुट-घुट कर मर रहे है !!

मरना तो एक ना एक दिन सबको ही है !!
अपने कर्मो की सजा एक ना एक दिन सबको भोगनी ही है !!

हमें मौत इतनी ख़ामोशी से आये की उनकी !!
हस्ती खेलती जिंदगी में जरा भी भनक ना लग पाए !!

क्या करेंगे अब हम ये जिंदगी जीकर !!
जिसके लिए जी रहे थे अब वो ही हमारे पास ना रहा !!

प्यार में इंसान ना जाने क्या से क्या कर जाता है !!
अपनी जान दे भी देता है और दूसरो की ले भी लेता है !!

मेरे मरने की वजह सिर्फ तू होगी !!
तेरी झूठे इश्क़ की मेरे लिए यही सजा होगी !!

जब दिल उदास होता है !!
तो ना जाने क्यों मरने का मन होता है !!

उनसे इश्क़ क्या किया हमने अब !!
समझ ही नहीं आ रहा की जिए या फिर मरे !!

जब मेरे मरने की खबर तुम तक पहुंचे !!
तो समझ जाना की तुम्हारे दिए दर्द से हम उभर नहीं पाए !!

मरने वाले होंगे तेरे हुस्न के लाखों शरीफ !!
तेरी सादगी पे मरने वाला पहला शैतान हैं !!

खुशियों से मेरा अब दूर का वास्ता हो गया है !!
क्योंकि गमो ने मुझे काफी मजबूती से जकड़ रखा है !!

मर भी गया तो क्या हुआ कम से कम !!
अपने चाहने वालो के दिलो में तो जिन्दा रहूँगा !!

Marne wali shayari

जब मौत आनी होगी तब आएगी मेरी हस्ती खेलती !!
जिंदगी को अपने आप तबाह कर के ले जाएगी !!

मरने को जी करता रहता है हर पल !!
खुद पर ही गुस्सा करता रहता हू में हर वक़्त !!

मर जाने का ख्याल यू ही नही आता !!
किसी की यादें जीना मुश्किल कर देती है !!

तेरी बेरुखी सहने से बेहतर है !!
मुझे मौत ही आ जाए !!

है मौत का इंतजार पर उनपे भी ऐतबार है !!
देखे पहले वो आता है या फिर मौत !!

यहाँ गरीब को मरने की इसलिए भी जल्दी है साहब !!
कहीं जिन्दगी की कशमकश में कफ़न महँगा ना हो जाए !!

मौत-ओ-हस्ती की कशमकश में कटी उम्र तमाम !!
गम ने जीने न दिया शौक ने मरने न दिया !!

जब इश्क़ में इंसान धोख़ा खा जाता है !!
तब मौत आने जैसा मन अपने आप हो जाता है !!

तू बदनाम न हो जाए इस लिए जी रहा हूँ मैं !!
वरना मरने का इरादा तो रोज ही होता है !!

मौत तेरा डर नहीं मुझको !!
क्योंकि मारा है जीते जी अपनो ने मुझको !!

पता नहीं कौन सा जहर मिलाया था तुमने मोहब्बत में !!
ना जिंदगी अच्छी लगती है और ना ही मौत आती है !!

बहाने मौत के तो तमाम नज़र आते हैं !!
जीने की वजह तेरे सिवा कुछ नही भी !!

सुलगती जिन्दगी से मौत आ जाये तो बेहतर है
अब हमसे दिल के अरमानों का मातम नही होता !!

ये इश्क़ बनाने वाले की मैं तारीफ करता हूं !!
मौत भी हो जाती है और कातिल भी पकड़ा नही जाता !!

कमाल है न जाने ये कैसा उनका प्यार का वादा है !!
चंद लम्हे की जिंदगी और नखरे मौत से भी ज्यादा है !!

मरने वाली शायरी

तलब मौत की करना गुनाह है ज़माने में यारों !!
मरने का शौक है तो मुहब्बत क्यों नहीं करते !!

वो जो मेरी जिंदगी थी ना किसी ओर की हो गई !!
अब मेरी मौत मेरी हो जाए तो कमाल हो जाए !!

इश्क कहता है मुझे इक बार कर के देख !!
तुझे मौत से न मिलवा दिया तो मेरा नाम बदल देना !!

मुझे रुला कर सोना तो तुम्हारी आदत बन गयी है !!
अगर मेरी आँख ही न खुली तो तड़पोगे बहुत तुम !!

मार डालेगी मुझे ये खुशबयानी आपकी !!
मौत भी आएगी मुझको तो जबानी आपकी !!

असर तो बहुत था बद्दुआओं में तेरी !!
कुछ अपनों की दुआए मुझे मरने नहीं देती !!

मरने वाले को रोने वाले हजार मिल जाएंगे !!
मगर जो जिन्दा हैं उसे समझने वाला एक भी नहीं मिलता !!

गरीबी और खुद्दारी भी बा कमाल हैं साहब !!
एक जीने नहीं देती दूसरी मरने नहीं देती !!

गरीबी और खुद्दारी भी बा कमाल हैं साहब !!
एक जीने नहीं देती दूसरी मरने नहीं देती !!

थोड़ा रूठना थोड़ा मना लेना चाहता हूँ !!
की मरने से पहले सबसे प्यार जाता लेना चाहता हूँ !!

जो जीते जी हाल तक नहीं पूछते !!
मरने के बाद कंधा दे दो आंसू बहा जाते हैं !!

हद तो ये हैं की मौत भी तकती हैं दूर से !!
उसको भी इंतजार हैं मेरी खुदखुशी का !!

कुछ नहीं तो बस एक दिन ऐसा आये !!
उसी के सामने मुझे सरे आम मौत आ जाये !!

मुकद्दर में रात की नीद नही तो क्या हुआ !!
जब मौत आयेगी तो जी भर के सो लूंगा !!

वो भी कितनी हसीन शाम होगी !!
जब मेरी जिंदगी मौत के नाम होगी !!

इसे भी पढ़े :- Bhojpuri Shayari in Hindi Images |भोजपुरी शायरी

Marne wali shayari

करता हूं तुमसे मोहब्बत मरने पर इल्जाम होगा !!
कफन उठा कर देखना होठो पर तेरा नाम होगा !!

ए जिंदगी किसी को इतना न सताया कर कि !!
उसे मौत से मोहब्बत हो जाए !!

किश्तों में खुदखुशी कर रही हैं ये जिंदगी !!
इंतजार तेरा मुझे मरने भी नहीं देता !!

जहाँ जिंदगी हैं जीने को इतनी बड़ी !!
वही मैं खुद से ही खुद के लिए मरने की दुआ कर रहा हूँ !!

मियाँ क्यों न मरने दुश्मन के घर ना जाय जाएँ !!
शर्त अगर हतेली पर लाश को जलाया जाएँ !!

आज कल लोग जीते जी इंसान को मार देते हैं !!
तो मरने के बाद क्या खाख उन्हें याद रखेंगे !!

मेरे मरने के बाद किसी को !!
कोई ख़ास फ़र्क़ तो नहीं होगा !!
बस एक तन्हाई रोयेगी !!
की मेरा हमसफ़र चला गया !!

छोड़कर चला जाऊं अब तेरी यह दुनिया !!
मेरे दाता मुझको इतनी सी इज़ाज़त दे दे !!
मैंने पायी है नफरत सदा तेरी दी ज़िन्दगी से !!
मौत तो अब लगा ले गले इतनी मोहब्बत दे दे !!

खबर मरने की जब आये तो !!
यह न समझना हम दगाबाज़ थे !!
किस्मत ने गम इतने दिए !!
बस ज़रा से परेशान थे !!

हम उम्मीदों की दुनियां बसाते रहे !!
वो भी पल पल हमें आजमाते रहे !!
जब मोहब्बत में मरने का वक्त आया !!
हम मर गए और वो मुस्कुराते रहे !!

मिट्टी मेरी कब्र से उठा रहा है कोई !!
मरने के बाद भी याद आ रहा है कोई !!
ऐ खुदा कुछ पल की मोहलत और दे दे !!
उदास मेरी कब्र से जा रहा है कोई !!

जीना सीख लिया बेवफाई के साथ अब तो !!
खेलना सीख लिया अब दर्द से हमने !!
दिल किस कदर टूटा है क्या बताएं !!
मरने से पहले कफ़न ओढ़ना सिख लिया हमने !!

मेरे मरने के बाद मेरी कहानी लिखना !!
कैसे बर्बाद हुई मेरी जवानी लिखना !!
और लिखना की मेरे होंठ खुशी को तरसे !!
कैसे बरसा मेरी आँखूं से पानी लिखना !!

कशिश तोह बहुत है मेरे प्यार मैं !!
लेकिन कोई है पत्थर दिल जो पिघलता नहीं !!
अगर मिले ख़ुदा तो माँगूंगी उसको !!
सुना है ख़ुदा मरने से पहले मिलते नहीं !!

मेरे ज़ख्मो को हवा दे रहे हो !!
किस बात की यह सजा दे रहे हो !!
हमने तो कोई गुस्ताखी नहीं की !!
फिर क्यों मरने की बद्दुआ दे रहे हो !!

Marne ki shayari

मेरी रूह भी शायद भटकेगी दुनिया में !!
सुना है प्यार करने वाले मरते नहीं कभी !!
क्या करेंगे जी कर हम बिन यार के खुदा !!
देख मरने से भी दिलवाले डरते नहीं कभी !!

मुझे ना जीने की ख़ुशी हैं अब !!
और ना ही मरने का हैं गम !!
उनसे मिलने की दुआ भी नहीं करते हम !!
क्युकी अब हर शाम है उनकी यादो के संग !!

सबने कहा इश्क़ दर्द है !!
हमने कहा ये दर्द कबुल है !!
सबने कहा इस दर्द के साथ जी नहीं पाओगे !!
हमने कहा इस दर्द के साथ मरना कबुल है !!

मेरे मरने के बाद तुम !!
पर एक इलज़ाम होगा !!
कफ़न उठा के देख लेना !!
मेरे होटों पर तेरा ही नाम होगा !!

हम अपनी मौत खुद मर जाएंगे सनम !!
आप अपने सर क्यों इल्जाम लेते हो !!
जालिम है दुनिया ना जीने देगी आप को !!
आप क्यों अपनी जुबा से मेरा नाम लेते हो !!

खौफ नहीं मरने का !!
मैं इश्क़ मौत से करता हूँ !!
लाल हूँ मैं धरती माँ का !!
हिंदुस्तान को दिल में रखता हूँ !!

मरने के बाद क्यों बुलाती हैं दुनिया !!
ना जाने की कौन सी कसर रह जाए !!
मरने के बाद भी जलाती हैं दुनिया !!

सबने कहा इश्क़ दर्द है हमने कहा ये दर्द कबुल है !!
सबने कहा इस दर्द के साथ जी नहीं पाओगे !!
हमने कहा इस दर्द के साथ मरना कबुल है !!

जिंदगी से दिल हार गया है !!
अब तो सिर्फ मौत का सहारा है !!
शायद उससे मिल के सुकून मिले !!

सूरत उसकी खयालों से क्यो जाती नहीं !!
नींद है आखों में मगर क्यों आती नहीं !!
वो साथ थे तो मौत का खौफ था मुझे !!
अब मैं तन्हा हु तो मौत क्यों आती नहीं !!

हम उम्मीदों की दुनियां बसाते रहे !!
वो भी पल पल हमें आजमाते रहे !!
जब मोहब्बत में मरने का वक्त आया !!
हम मर गए और वो मुस्कुराते रहे !!

मिटटी मेरी कब्र से उठा रहा है कोई !!
मरने के बाद भी याद आ रहा है कोई !!
ए खुदा कुछ पल की मोहलत और दे दे !!
उदास मेरी कब्र से जा रहा है कोई !!

मौत मांगते है तो ज़िन्दगी खफा हो जाती है !!
जहर लेते है तो वो भी दवा हो जाती है !!
तु बता ऐ ज़िन्दगी तेरा क्या करू !!
जिसको भी चाहा वो बेवफा हो जाती है !!

मेरे मरने के बाद मेरी कहानी लिखना !!
कैसे बर्बाद हुई मेरी जवानी लिखना !!
और लिखना की मेरे होंठ खुशी को तरसे !!
कैसे बरसा मेरी आँखूं से पानी लिखना !!

ना जीने का मन करता है !!
और ना ही मरने का समझ नहीं आ रहा !!
की ये क्या चाहता हैं ये मन मेरा !!

Marna shayari

छोड़कर चला जाऊं अब तेरी यह दुनिया !!
मेरे दाता मुझको इतनी सी इज़ाज़त दे दे !!
मैंने पायी है नफरत सदा तेरी दी ज़िन्दगी से !!
मौत तो अब लगा ले गले इतनी मोहब्बत दे दे !!

मौत की उम्मीद लगाए बैठे है !!
हम तो अपनी इस जिंदगी से !!
जरुरत से ज्यादा परेशां बैठे है !!

यहां गरीब मरने से भी डरता है !!
क्योंकि मरने का बाद अर्थी !!
फुकने के लिए भी पैसा चाहिए होता है !!

खुश भी हूँ दुखी भी हूँ !!
जीने की इच्छा भी रखता हूँ !!
और मरने की ख्वाहिश भी !!

खबर मरने की जब आये तो !!
यह न समझना हम दगाबाज़ थे !!
किस्मत ने गम इतने दिए !!
बस ज़रा से परेशान थे !!

मौत से डर तो नहीं लगता है !!
पर अपनी मौत से मेरे माँ-बाप को !!
दर्द होने का मुझे बहुत डर लगता है !!

अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती !!
तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती !!
लोग मरने की आरज़ू ना करते !!
अगर मोहब्बत में बेवफाई ना होती !!

उनके बिना हमारा एक पल भी जीना बहुत भारी है !!
अगर वो अब हमारे पास नहीं आना चाहते तो !!
इससे अच्छा हमें मौत आ जानी चाहिए !!

एक दिन हम भी कफ़न ओढ़ जायेंगे !!
सब रिश्ते इस जमीन के तोड़ जायेंगे !!
जितना जी चाहे सता लो मुझको !!
एक दिन रोता हुआ सबको छोड़ जायेंगे !!

वफ़ा सीखनी है तो मौत से सीखो !!
जो एक बार अपना बना ले !!
फिर किसी का होने नहीं देती !!

ज़िंदगी इक सवाल है !!
जिस का जवाब मौत है !!
मौत भी इक सवाल है !!
जिस का जवाब कुछ नहीं !!

जिन्दगी जख्मो से भरी है !!
वक्त को मरहम बनाना सीख लो !!
हारना तो है एक दिन मौत से !!
फिलहाल जिन्दगी जीना सीख लो !!

वफ़ा सीखनी है तो मौत से सीखो !!
जो एक बार अपना बना ले !!
फिर किसी का होने नहीं देती !!

उन दो पंक्तियों में !!
मैंने अपनी पूरी कहानी लिख दी !!
मौत बड़ी पास से गुजरी !!
जिन्द़गी ने होंठों पर झूठी मुस्कुराहट रख दी !!

जिसकी याद में सारे जहाँ को भूल गए !!
सुना है आजकल वो हमारा नाम तक भूल गए !!
कसम खाई थी जिसने साथ निभाने की यारो !!
आज वो हमारी लाश पर आना भूल गए !!

इसे भी पढ़े :- Happy New Year Status In Hindi | नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं

Mar jane wali shayari

मोहब्बत के नाम पे दीवाने चले आते हैं !!
शमा के पीछे परवाने चले आते हैं !!
तुम्हें याद न आये तो चले आना मेरी मौत पर !!
उस दिन तो बेगाने भी चले आते हैं !!

चंद साँसे बची हैं आखिरी दीदार दे दो !!
झूठा सही एक बार मगर प्यार दे दो !!
ज़िन्दगी तो वीरान थी पर मौत तो गुमनाम न हो !!
मुझे गले लगा लो फिर मौत मुझे हज़ार दे दो !!

कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे !!
ऐसा कर ऐ खुदा मेरी हस्ती मिटा दे !!
यूँ घुट-घुट के जीने से मौत बेहतर है !!
मैं कभी न जागूं मुझे ऐसी नींद सुला दे !!

वादे तो हजारों किये थे उसने मुझसे !!
काश एक वादा उसने निभाया होता !!
मौत का किसको पता कि कब आएगी !!
पर काश उसने जिंदा दफनाया न होता !!

सुहाना मौसम और हवा में नमी होगी !!
आंसुओं की बहती नदी न थमी होगी !!
मिलना तो हम तब भी चाहेंगे आपसे !!
जब आपके पास वक़्त और !!
हमारे पास साँसों की कमी होगी !!

मिटटी मेरी कब्र से उठा रहा है कोई !!
मरने के बाद भी याद आ रहा है कोई !!
कुछ पल की मोहलत और दे दे ए खुदा !!
उदास मेरी कब्र से जा रहा है कोई !!

जब हुआ मेरे इश्क का एहसास उन्हें !!
आकर वो पास सारा दिन रोते रहे !!
हम भी निकले खुद-गर्ज इतने यारो !!
कफ़न में आँख बंद किये सोते रहे !!

तूफ़ान है जिंदगी तो साहिल है तेरी दोस्ती !!
सफ़र है मेरी जिंदगी मंजिल है तेरी दोस्ती !!
मौत के बाद मिल जायेगी मुझे जन्नत !!
जिंदगी भर रहे अगर कायम तेरी दोस्ती !!

जब तेरी नजरों से दूर हो जायेंगे हम !!
दूर फिजाओं में कहीं खो जायेंगे हम !!
मेरी यादों से लिपट कर रोने आओगे तुम !!
जब जमीन को ओढ़ कर सो जायेंगे हम !!

प्यार में सब कुछ भुलाये बैठे हैं !!
चिराग यादों के जलाये बैठे हैं !!
हम तो मरेंगे उनकी ही यादों में !!
यह मौत से शर्त लगाये बैठे हैं !!

एक दिन हम भी कफ़न ओढ़ जायेंगे !!
सब रिश्ते इस जमीन से तोड़ जायेंगे !!
जितना जी चाहे सता लो तुम मुझे !!
एक दिन रोता हुआ सबको छोड़ जायेंगे !!

धरती के गम छुपाने के लिए गगन होता है !!
दिल के गम छुपाने के लिए बदन होता है !!
मर के भी छुपाने होंगे गम शायद !!
इसलिए हर लाश पर कफ़न होता है !!

हर काम किया मैंने उसकी ख़ुशी के लिए !!
जाने तब भी क्यूँ बेवफा कहलाता हूँ !!
मौत से पहले उसकी दीदार की ख्वाहिश है मेरी !!
बस इसलिए ज़िन्दगी का साथ निभाता हूँ !!

मोहब्बत मुझे थी उसी से सनम !!
यादों में उसकी यह दिल तड़पता रहा !!
मौत भी मेरी चाहत को रोक न सकी !!
कब्र में भी यह दिल धड़कता रहा !!

एक दिन निकला सैर को मेरे दिल में कुछ अरमान थे !!
एक तरफ थी झाड़ियाँ एक तरफ श्मशान थे !!
पैर तले इक हड्डी आई उसके भी यही बयान थे !!
चलने वाले संभल कर चलना हम भी कभी इंसान थे !!

Marne wale status

कीमत पानी की नहीं प्यास की होती हैं !!
कीमत मौत की नहीं सांस की होती हैं !!
प्यार तो बहुत करते हैं दुनिया में !!
कीमत प्यार की नहीं विश्वास की होती हैं !!

जलोगे तुम भी तड़प में किसी से !!
जब तुम्हे सच्चा प्यार होगा !!
मेरे चिता की आग जब देखोगे तुम्हे !!
प्यार का मेरे एहसास होगा !!

एक दिन हम भी कफ़न ओढ़ जायेंगे !!
सब रिश्ते इस जमीन से तोड़ जायेंगे !!
जितना जी चाहे सता लो तुम मुझे !!
एक दिन रोता हुआ सबको छोड़ जायेंगे !!

मौत मांगते है तो ज़िन्दगी खफा हो जाती है !!
जहर लेते है तो वो भी दवा हो जाती है !!
तु बता ऐ ज़िन्दगी तेरा क्या करू !!
जिसको भी चाहा वो बेवफा हो जाती है !!

मेरे मरने के बाद हमारा प्यार याद करोगे !!
तेरी दुनिया को छोड़कर अब ना वापस आएंगे !!
हम भी अपने खुदा के पास तेरा खत दिखाएंगे !!
तेरी हर एक जुर्म की कहानी अपने रब को सुनाएंगे !

मैंने खुदा से एक दुआ मांगी !!
दुआ में अपनी मौत मांगी !!
खुदा ने कहा मौत तो तुझे दे दूँ !!
पर उसका क्या जिसने हर दुआ में तेरी जिंदगी मांगी !!

ऐ मौत !! मैं तुझे गले लगाना चाहता हूँ !!
कितनी वफ़ा है तुझ में यह आज़माना चाहता हूँ !!
रुलाया है बहुत दुनिया में लोगो ने मुझे !!
मिले जो तेरा साथ तो मैं लोगो को रुलाना चाहता हूँ !!

मेरी हर खता पे नाराज न होना !!
अपनी प्यारी सी मुस्कान कभी न खोना !!
सुकून मिलता है देख कर आपकी हंसी को !!
मुझे मौत भी आ जाये तो भी न रोना !!

जो आपने न लिया हो ऐसा कोई इम्तिहान न रहा !!
इंसान आखिर मोहब्बत में इंसान न रहा !!
है कोई बस्ती जहां से न उठा हो ज़नाज़ा दीवाने का !!
आशिक की कुर्बत से महरूम कोई कब्रिस्तान न रहा !!

लम्हा लम्हा सांसें खत्म हो रही हैं !!
ज़िन्दगी मौत के पहलू में सो रही है !!
उस बेवफा से ना पूछो मेरी मौत की वजह !!
वह तो ज़माने को दिखाने के लिए रो रही है !!

आंखें खुली हो तो चेहरा तुम्हारा हो !!
आँखें बंद हो तो सपना तुम्हारा हो !!
मुझे मौत का डर नहीं होगा !!
अगर कफ़न की जगह दुपट्टा तुम्हारा हो !!

अब तक हम मुन्तजिर हैं जिनके ऐ खुदा !!
उनको हमारा ख्याल तक न आया !!
उनके इश्क में हमारी जान तक चली गयी !!
और उनको हमारी मौत का मलाल तक न आया !!

कल अगर फुर्सत न मिली तो क्या होगा !!
इतनी मोहलत न मिली तो क्या होगा !!
रोज़ कहते हो कल मिलेंगे कल मिलेंगे !!
कल ये आँखे न खुली तो क्या होगा !!

तुम दर्द भी हो मेरा और दर्द की दवा भी हो !!
मेरी मौत का कारण भी हो तुम जीने की वजह भी हो !!
खुली नज़रो से तुम दूर हो बहुत मुझसे !!
बंद आँखों में हर जगह मेरे पास भी हो तुम !!

क्या कहूँ तुझे ख्वाब कहूँ तो टूट जायेगा !!
दिल कहूँ !! तो बिखर जायेगा !!
आ तेरा नाम ज़िन्दगी रख दूँ !!
मौत से पहले तो तेरा साथ छूट न पायेगा !!

इसे भी पढ़े :- One Sided Love Shayari In Hindi | एकतरफा प्यार शायरी

Marne wali dp

ना चाँद अपना था और ना तू अपना था !!
काश दिल भी मान लेता की सब सपना था !!
कोई नही आएगा मेरी ज़िदंगी मे तुम्हारे सिवा !!
एक मौत ही है जिसका मैं वादा नही करता !!

आसमान के परे मुकाम मिल जाए !!
रब को मेरा ये पैगाम मिल जाए !!
थक गयी है धड़कनें अब तो चलते चलते !!
ठहरे सांसे तो शायद आराम मिल जाए !!

हमारी हर खता पे नाराज़ न होना !!
अपनी प्यारी सी मुस्कराहट को कभी न खोना !!
सुकून मिलता है देख कर आपकी मुस्कराहट !!
हमे मौत भी आये तो भी मत रोना !!

इस आस में चला जाऊंगा मैं ये जहाँ छोड़ कर !!
के शायद मेरा मरना ही कुछ काम आएगा !!
शायद चली आये तू उस पल मेरे पास दौड़कर !!
जिस पल तेरे पास मेरी मौत का पैगाम आएगा !!

न मेरी कोई मंज़िल है न किनारा !!
तन्हाई मेरी महफ़िल और यादें !!
मेरा सहारा तुम से बिछड़कर के !!
कुछ यूँ वक़्त गुज़ारा कभी ज़िन्दगी !!
को तरसे कभी मौत को पुकारा !!

आज उसने अपनी अलग दुनिया बसाई है !!
मेरी ज़िन्दगी भी मौत से जीतती आयी है !!
जितना तोडना चाहता हूँ ज़िन्दगी के तार मैं !!
उतना ही खुदा ने मेरी उम्र बड़ाई है !!

वादे भी उसने क्या खूब निभाए हैं !!
ज़ख़्म और दर्द तोहफे में भिजवाये है !!
इस से बढ़कर वफ़ा की मिसाल क्या होगी !!
मौत से पहले मौत का सामान ले आये है !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *